What is 301 redirect in Hindi | Difference between 301, 302 vs meta refresh

301 रेडिरेक्ट क्या है और कहाँ use किया जाता है

302, 301 redirect उन लोगो के लिए बहुत जानी पहचानी टर्म है जो की वेबसाइट मैनेज करते है ya ब्लॉगिंग करते है | अगर आपने ये टर्म पहले सुनी है लेकिन कुछ confusion है तो ये पोस्ट आपकी हेल्प जरूर करेगा क्योकि अगर आपकी वेबसाइट या ब्लॉग है तो SEO के लिए आपको ये जानना बहुत जरुरी है की redirection का क्या मतलब है और ये कब व् क्यों करना पड़ता है |

What is Redirect?

Redirection, जैसे की इस word का मीनिंग होता है – एक जगह से दूसरी जगह मूव करना | यहाँ पर redirection का मतलब है – एक URL को दूसरे URL (location) पर फॉरवर्ड करना | इसको इस प्रकार कहा जा सकता है  – “Redirect एक ऐसा तरीका है जिसको use करके user एवं सर्च इंजन को requested URL से दूसरे URL पर भेजा जाता है “|

 301 redirect

301 redirect

What is 301 Redirect : 301 रीडायरेक्ट को परमानेंट रीडायरेक्ट भी कहा जाता है | इसको एक सिंपल example से समझ सकते है – अगर आप अपना घर एक लोकेशन से बेच कर दूसरी लोकेशन पर खरीद लेते है तो जब भी कोई आपके पुराने घर जायेगा तो उसको किसी न किसी तरीके से आपके नए घर पर रीडायरेक्ट कर दिया जायेगा | यही website या ब्लॉगिंग मे होता है | किसी भी कारणवश अगर आपको किसी पेज का URL चेंज करना पड़ता है तो आपको हमेशा ये डर रहेगा की उस पेज की ranking गिर जायगी, popularity, users and search इंजन पर भी बहुत फर्क पड़ेगा | लेकिन आपको यहाँ पर जब 301 redirect का option मिलता है तो आपको ये चिंता करने की जरूरत नहीं | सभी traffic जो की URL A पर आता है उसको permanently URL B पर redirect कर दिया जाता है एवं link की popularity व् existing SEO value भी A से B URL पर ट्रांसफर हो जाती है |

जब भी 301 redirect किया जाता है तो ये approx 95% ranking power को नए पेज पर redirect कर देता है | इसलिए ही ज्यादातर cases मे 301 रेडिरेक्ट को वेबसाइट के रीडायरेक्ट के लिए बेस्ट तरीका माना जाता है | 301 रीडायरेक्ट मे सर्च इंजिन्स को यह बताया जाता है की केवल पेज लोकेशन चेंज हुई है लेकिन बाकी सभी चीज वैसे की वैसे है जैसे content, ranking आदि | अगर आपकी वेबसाइट बहुत जयदा पॉपुलर नहीं है और सर्च इंजन rarely आपकी पुराने URL को visit करता है तो इस process मे टाइम लग सकता है जिससे नए पेज की रैंकिंग एवं पुराना ट्रस्ट मिलने मे भी टाइम लग सकता है |

Read Also – What is SEO

301 Redirect Benefit : किसी भी कारणवश अगर आपकी वेबसाइट का URL चेंज होता है तो  301 Redirect की हेल्प से वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी एवं सर्च रैंकिंग मैन्टिन रहती है । 

What is 302 Redirect : 302 रेडिरेक्ट एक टेम्पररी रीडायरेक्ट है और ये तभी काम मे आता है जब आप किसी reason की वजह से temporary URL ko दूसरी जगह पर locate कर देते है लेकिन आप चाहते है की विजिटर हमेशा पुराने original लिंक or URL को ही request करे | 302 redirect इम्प्लीमेंट करना बहुत आसान होता लेकिन यह बहुत कम use मे आता है | 302 redirect नए URL पर किसी भी प्रकार की लिंक value पास नहीं करता |

मेटा रिफ्रेश : यह रीडायरेक्ट सर्वर लेवल की जगह पेज लेवल पर process होते है एवं स्लो परफॉर्म करते है | इस रीडायरेक्ट को generally वहां use किया जाता है जब आपको बहुत ही टेम्पररी किसी लिंक पर मूव करवाना होजैसे आप किसी साइट पर विजिट कर रहे है एवं वहां पर message आता है – अगर आप पेज 5 seconds मे रीडायरेक्ट नहीं होते तो click here | Meta रिफ्रेश लिंक जूस पास करते है लेकिन SEO के लिए ये suggest नहीं किये जाते |

Read Also –Popular Google SEO tools

Read Also – What is backlinks 

Leave a Reply