What is 2.4GHz and 5GHz frequencies WiFi speed and range

Difference between 2.4 ghz and 5ghz Wifi frequencies and which option i should choose

अगर आप अपने घर के लिए नयी Wi-Fi device लेने की सोच रहे है तो आपने purchase करने से पहले अपनी research मे dual band राऊटर का नाम जरूर सुना होगा और अगर नहीं भी सुना है तो भी कोई बात नहीं क्योकि हम आपको आज ड्यूल बैंड एवं उसमे use होने वाली 2.4 Ghz एंड 5 Ghz frequencies के बारे मे भी बताएँगे| जब कोई WiFi device 2.4 GHz एंड 5 GHz दोनों फ्रीक्वेंसी सपोर्ट करती है तो कहा जाता है की वो डिवाइस ड्यूल बैंड supportive है| अब आप दोनों 2.4 Ghz एंड 5 Ghz frequency एवं उनके उपयोग के बार मे जरूर जानने चाहेंगे | ये दोनों frequencies दो अलग अलग बैंड है जो की Wi-Fi devices, signaling के लिए use करती है|

2.4ghz vs 5ghz speed

2.4ghz vs 5ghz speed

Frequency के base पर दो तरह के Wi-Fi सिग्नल use मे आते है

  1. 2.4GHz – आज की तारीख मे यह सबसे जयदा use मे आने वाली लोअर frequency है| यह बहुत ज्यादा डिवाइसस मे काम मे ली जाती है जिससे की सिग्नल बहुत ज्यादा हो जाते है एवं आपस मे interference  (दखल-अंदाजी) क्रिएट करते है | यह frequency बहुत आसानी से दीवारों एवं विंडोज से पास करती हुई दुरी तक रेंज प्रोवाइड कर सकती है| क्योकि 2.4 Ghz  ज्यादा devices मे use होती है इसलिए स्पीड भी कम होती है|
  2. 5GHz – यह हायर frequency टेक्नोलॉजी है जो की कम डिवाइस मे use होती है एवं इसलिए हीइसको use करने वाली devices हायर स्पीड प्राप्त कर सकती है| 2.4 Ghz की तुलना मे यह आसानी से windows व् दीवारों से पास नहीं होती इसलिए इसकी range भी 2.4 Ghz की तुलना मे कम होती है |

ये Frequencies कैसे काम करती है : WiFi मे use होने वाले हर एक frequency बैंड बहुत सारे channels मे डिवाइडेड hote है| 2.4 Ghz मे, 5 Ghz बैंड की तुलना मे चैनल्स कम होते है इसलिए ही यहाँ पर कनेक्टेड devices मे interference ज्यादा होने के chances होते है| 2.4 Ghz बैंड, कम चैनल व् ज्यादा पॉपुलर होने की वजह से ज्यादा से ज्यादा devices इस frequency से कनेक्टेड होती है इसलिए ज्यादा interference होने के साथ स्पीड भी कम हो सकती है जबकि 5 Ghz मे ज्यादा चैनल होने व् कम पॉपुलर होने की वजह से interference कम होता है एवं स्पीड ज्यादा मिलती है |

2.4 Ghz मे interference क्यों होता है : जैसे की ऊपर बताया गया इसके तीन कारण है – पहला इसमें नंबर ऑफ़ available चैनल्स कम होते है एवं दूसरा ज्यादा पॉपुलर है एवं तीसरा WiFi के अलावा और भी दूसरी devices मे use आता है जैसे ब्लूटूथ devices, microwave ओवन, कार्डलेस फ़ोन्स, बेबी मॉनीटर्स devices आदि। 2.4 Ghz को ज्यादा use इसलिए किया जाता है क्योकि यह ज्यादा दूरी तक सिग्नल्स को ट्रांसमिट कर सकते है एवं सिग्नल ट्रांसमिट करने के दौरान दिवार या किसी सॉलिड objects को भी आसानी से क्रॉस कर सकते है| यहाँ पर एक बात और ध्यान देने की है की २.४ ग़ज़ मे कम चैनल होने के बाद भी non-ओवरलैपिंग चैनल्स भी बहुत कम है जबकि ५ ग़ज़ मे चैनल होने के साथ non-overlapping चैनल्स भी ज्यादा है 

दोनों बैंड के लिए ये कहा जाता है की आइडियल कंडीशंस मे 2.4 GHz WiFi 400 Mbps से 600 Mbps स्पीड एवं 5 GHz Wi-Fi 1000 से 1300 एमबीपीएस स्पीड सपोर्ट कर सकता है। यहाँ पर आइडियल कंडीशंस मे बहुत सारी बाते आती है की आपके आस पास कितनी wifi devices है, आपका राऊटर एवं कनेक्टेड devices की quality कैसी है एवं सबसे जरुरी की आस पास मे same frequency के कितने कनेक्शन है। बहुत से लोगो मे ये ग़लतफहमी है की 5 GHz network technology नयी है जबकि ये भी उतनी ही पुरानी है जितनी की 2.4 Ghz|

Leave a Reply